What is RAM in Hindi- RAM kya hota hain puri jaankari

RAM का नाम तो आप सभी ने सुना ही होगा, जब भी आप कोई मोबाइल या लैपटॉप खरीदते है तो सबसे पहले यही पूछते है- “RAM कितनी है इसकी” लेकिन क्या आपको पता हैं की RAM आखिर होता क्या है? आज हम इस पोस्ट में जानेंगे की What is RAM in Hindi.
और RAM से जुडी सारी जरुरी जानकारी जो आपको पता होनी चाहिए।

what is ram in hindi

Random Access Memory, या RAM, कंप्यूटर के मदरबोर्ड पर स्थित एक फिजिकल हार्डवेयर है जो टेम्‍पररी डेटा स्‍टोर करता है और कंप्यूटर की “वर्किंग” मेमोरी के रूप में सेवा करता है। ये किसी भी computer या device का सबसे जरूरी हिस्‍सा है। बहुत से लोगो को पता है कि RAM रफ्तार बढ़ाने के काम आती है.

RAM आमतौर पर मदरबोर्ड पर होती है। जब हम कोई एप्‍लीकेशन कम्‍प्‍यूटर में चलाते हैं, तो वह चलते समय रैम का प्रयोग करती है। कम्‍प्‍यूटर में कम रैम होने की वजह से कभी कभी हैंग होने की समस्‍या आती है तथा कुछ ऐप्‍लीकेशन को पर्याप्‍त रैम नहीं मिलती है तो वह कम्‍प्‍यूटर में नहीं चलते है। रैम कई प्रकार की आती है, जैसे DDR, DDR1, DDR2 तथा DDR3 आजकल के प्रचलन में डी0डी0आर03 रैम है। रैम के बीच के कट को देखकर रैमों को पहचाना जा सकता है।

Computer मे 2 तरह की Memory होती है।

  • पहली तरह की memory वो होती है जो कि डाटा को सुरक्षित कर के रख सकती है जब वो working मे या Power से जुडी नही है, जैसे की हमारी Pen Drive, Internal Memory या Hard Disk. इसे हम Physical Storage भी कहते है।
  • दूसरी तरह की memory होती है जिसमें से Power हटाते ही पूरा डाटा खतम हो जाता है, इस memory को RAM कहते है।

RAM Full Form:

RAM- Random Access Memory

RAM को Main Memory, Internal Memory, Primary Storage, Primary Memory के रूप में भी जाना जाता है।

What is RAM in Hindi?

RAM डेटा को रैंडम ऑर्डर में एक्‍सेस कर सकता है, जिससे किसी विशेष इनफॉर्मेशन के पार्ट को खोजना इसके लिए बहुत फास्‍ट बन जाता है।

जबकि स्‍टोरेज के अन्य टाइप में डेटा का रैंडम-एक्‍सेस नहीं होता। उदाहरण के लिए, एक हार्ड डिस्क ड्राइव और सीडी में डेटा को एक पूर्व निर्धारित क्रम में रिड और राइट किया जाता हैं। इन डिवाइसों के मैकेनिकल डिज़ाइन निर्धारित करते हैं कि डेटा एक्सेस सलग है। इसका मतलब यह है कि विशिष्ट जानकारी प्राप्त करने के लिए जो समय लगता है, वह इस बात पर निर्भर करता है कि यह डिस्क पर कहाँ स्थित है।

हमारे mobile/laptop मे एक और part होता है processor आपने सुना होगा – Dual Core, Quad Core. Processor दिमाग की तरह होता है, ये ही पूरे system को नियत्रिंत करता है कि कौन सी चीज कहॉं से उठाकर कहॉं रखनी है। लेकिन processor सिर्फ उन चीजो को चला सकता है जो RAM मे होती है।

सामान्‍यत: RAM कम होती है और Internal Memory उससे कई गुना ज्‍यादा। जब आप कोई App चलाते है तो वो आपकी App mobile की Internal Memory से RAM मे transfer होती है और फिर RAM मे जाकर processor द्वारा चलायी जाती है।

वर्तमान-दिन के रैम, डिवाइस इनफॉर्मेशन स्‍टोर करने के लिए इंटीग्रेटेड सर्किट का उपयोग करते हैं। यह स्‍टोरेज का एक अपेक्षाकृत महंगा प्रकार है और स्‍टोरेज की लागत प्रति यूनिट हार्ड ड्राइव जैसे डिवाइसेस की तुलना में काफी अधिक है।

हालांकि, रैम के डेटा एक्‍सेस करने का समय इतना फास्‍ट है कि इसके कारण रैम के लागत में बढ़ोतरी हुई है। इसलिए, कंप्यूटर, फास्ट-एक्सेस, इनफॉर्मेशन का टेम्‍पररी स्‍टोरेज और हार्ड डिस्क ड्राइव की तरह परमानेंट स्‍टोरेज के लिए एक निश्चित मात्रा में रैम का उपयोग करता है।

रैम के कुछ लोकप्रिय टाइप में Kingston, Transcend, Hynix, Samsung, Lenovo, HP आदि शामिल हैं।

1990 के दशक की शुरुआत में, क्‍लॉक स्‍पीड को रैंडम एक्सेस मेमोरी के साथ सिंक्रनाइज़ किया गया।

SDRAM अपनी सीमा पर जल्दी पहुंचा, क्योंकि यह सिंगल डेटा रेट में इसे ट्रांसफर करता है।

वर्ष 2000 के आसपास, Double Data Rate Random Access Memory (DDR RAM) डेवलप किया गया था। यह एक क्‍लॉक साइकल में दुगना डेटा ट्रांसफर कर सकता था। DDR RAM की शुरूआत ने SDRAM की परिभाषा को भी बदल दिया है, क्योंकि कई सोर्स अब इसे सिंगल डाटा रेट रैम के रूप में परिभाषित करते हैं।

DDR RAM तीन बार विकसित हुआ है, DDR2, DDR3 और DDR4 के माध्यम से। प्रत्येक पुनरावृत्ति में डेटा की स्‍पीड और कम बिजली उपयोग में सुधार हुआ।

RAM की क्या क्या विषेशता है-

अभी आपने जाना what is ram in hindi तो चलिए अब बात करते है की RAM की क्या क्या खासियत होती है-

  1. RAM Volatile Memory है।
  2. आप अपने मोबाइल या लैपटॉप में जितने कम एप्लीकेशन यूज़ करेंगे आपका मोबाइल या लैपटॉप उतना अच्छा चलेगा.
  3. सारे Program, Application, Instructions, इस Memory में ही चलते है।
  4. CPU के द्वारा इस Memory का इस्तेमाल किया जाता है।
  5. इसको Computer की Working Memory भी बोला जाता है।

आप कितने GB की RAM use करे?

बस एक CPU और Hard Drive कि तरह ही आपके PC के लिए कितनी RAM कि आवश्यकता हैं यह आपके द्वारा उपयोग किए जाने पर पूरी तरह निर्भर करता है।

उदाहरण के लिए, यदि आप बड़े Gaming के लिए कंप्यूटर खरीद रहे हैं, तो आपको स्मूथ गेमप्ले को सपोर्ट करने के लिए पर्याप्त रैम की आवश्यकता होगी। कम से कम 4 GB की सिफारिश करने वाले गेम के लिए सिर्फ 2 GB RAM उपलब्ध होने पर गेम बहुत स्‍लो परफॉर्मेंस देंगे, या फिर आप गेम खेलने में पूर्ण असमर्थ होंगे।

दूसरे छोर पर, यदि आप अपने कंप्यूटर को सिर्फ इंटरनेट ब्राउज़िंग और प्रेजेंटेशन के लिए उपयोग करना चाहते हैं तो आपके लिए 2 GB RAM पर्याप्त हैं।

उम्मीद करता हु की आपको ये पोस्ट What is RAM in Hindi समझ में आया होगा, अगर आप अभी भी RAM को लेकर कंफ्यूज है तो आप हमसे Comment करके पूछ सकते है, हमें आपकी मदद करके ख़ुशी 🙂 होगी।
अगर आपको हमारी ये पोस्ट what is ram in hindi पसंद आयी तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर Share करे, आप चाहे तो हमसे Social Media पर भी जुड़ सकते हैं।

Sharing is Caring:

2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *