RTGS क्या हैं | RTGS full form in Hindi | RTGS kaise kare

RTGS ऑनलाइन फण्ड ट्रांसफर करने का एक सबसे एक और सरल तरीका हैं, ये तेज़ होने के साथ साथ पूरी तरह से सुरक्षित भी है इसलिए बहुत से बिजनेसमैन या व्यापारी RTGS का ही इस्तेमाल करते हैं। RTGS यानी “Riyal Time Gross Settlement” बैंक के जरिये पैसे ट्रांसफर करने का सबसे तेज तरीका है। लेकिन सभी बैंको की ब्रांच में ये सुविधा नहीं होती है, कुछ ही बैंक है जो आपको इस सुविधा का लाभ देते है।

RTGS क्या हैं | RTGS कैसे करे?

आप Internet Banking का Use करके RTGS कर सकते है। इसके अंदर आपको जिसे Fund Transfer करना है उसे Payee तथा Beneficiary Customer के रूप में अपने Account में Add करना होता है, जहाँ आपको उस Customer के बारे में सभी जानकारी Enter करना होती है।

RTGS Full Form in Hindi-

RTGS का फुल फॉर्म “Riyal Time Gross Settlement” होता है जिसे शॉर्ट में RTGS कहा जाता हैं।

RTGS क्या हैं | RTGS कैसे करे?

RTGS का Simple Meaning देखे तो इसमें कोई भी Transaction Immediate हो जाता है, जिसे Real Time कहा जाता है। इसमें आप जैसे ही Beneficiary Customer की Information Correctly Fill करके Fund Transfer करते हैं तो Immediate ही वह Fund Transfer होकर Beneficiary Customer के Account में Credit कर दिया जाता है। इसमें लगभग 30 Minutes के अंदर Transaction Complete हो जाता है।

RTGS Individuals और Company दोनों को एक देश के भीतर दो Banks के बीच Fund Transfer करने की सुविधा देती है। यह आदेश के आधार पर सेटलमेंट करता हैं, और सामान्य रूप से High Payment के लिए इस्तेमाल किया जाता हैं। RTGS को Core Banking के द्वारा Direct Transaction किया जाता हैं।

कम से कम हम कितने रूपए ट्रांसफर कर सकते है-

कम-से-कम 2 लाख रुपये की रकम इस तरीके से ट्रांसफर की जा सकती है। अधिकतम रकम की कोई सीमा नहीं है। 2 लाख से कम रकम ट्रांसफर करने के लिए एनईएफटी तरीका अपनाया जा सकता है।

Transaction Charges-

यदि Riyal Time Gross Settlement में 2 से 5 लाख तक का amount ट्रांसफर होता हैं तो उसमे Rs. 25 का Service charge (With additional service tax) लगता है, और 5 लाख के ऊपर के Transaction के लिए Rs. 50 चार्ज किया जाता हैं।

Timing-

सोमवार से शुक्रवार सुबह 9 बजे से दोपहर बाद 3 बजे तक और शनिवार को सुबह 9 बजे से दोपहर बाद 2 बजे तक।

RTGS किनके लिए जरूरी है?

वैसे तो ज्‍यादातर RTGS के Transaction कारोबारियों के द्वारा किए जाते हैं क्‍योंकि उन्‍हे अपने Business से Related दिन भर में कई बार High Value के Transaction करने होते हैं, और High Value के Transaction RTGS के Through ही किए जा सकते हैं। लेकिन RTGS का Use आम Investors या Person भी कर सकते हैं।

जैसे किसी Investor या Person को अपने किसी एक Account से दूसरे Account में या किसी दूसरे Person के Account में INR 2,00,000 या उससे ज्‍यादा का Fund Transfer करना है तो RTGS का Use करते हुए Fund Transfer किया जा सकता है। आप Mutual Fund में Investment करना चाहते हैं तो भी RTGS का Use कर सकते हैं।

कैसे जाता है पैसा-

इसके लिए आपको beneficiary के बैंक अकाउंट की details पता होनी चाहिए जैसे –
bank name
branch address
ifsc code

– जैसे ही रकम भेजने वाला आरटीजीएस इंस्ट्रक्शन स्लिप भरता है, भेजने वाला बैंक अपने Central Processing System में सभी Detail Feed कर देता है।
– सेंट्रल प्रॉसेसिंग सिस्टम के जरिये सभी जरूरी सूचनाएं RBI को भेज दी जाती हैं।
– RBI ट्रांजैक्शन पूरा करता है। इसके लिए भेजने वाले बैंक के अकाउंट से पैसा कट जाता है और जिस बैंक को भेजा गया है, उसके अकाउंट में Credit हो जाता है। यह सब RBI के यहां रेकॉर्ड हो जाता है।
– इसके बाद एक Unique Transaction Number (UTN) आता है, जिसे RBI पैसा भेजने वाले बैंक को भेज देता है। यह इस बात का सबूत है कि फंड ट्रांसफर हो गया है।
– अब भेजने वाला बैंक इसकी सूचना रिसीव करने वाले बैंक को भेज देता है। Receive करने वाला Bank यह सूचना मिलते ही अपने उस अकाउंट होल्डर के अकाउंट में पैसा ट्रांसफर कर देता है, जिसे रकम भेजी गई है।

Transaction Fail हो जाये तो?

अगर किसी वजह से आपके पैसे ट्रांसफर नहीं होते है तो आपको घबराने की जरुरत नहीं है, आपके पैसे RBI की तरफ से कुछ ही घंटो में वापस आपके अकाउंट में आ जाते है।
अगर आप इससे Related और जानकारी चाहते है तो आप SBI की साइट पर जाकर चेक कर सकते हैं।

Benefit of Riyal Time Gross Settlement

  • High Value Transaction के लिए Useful है।
  • लगभग 30 Minutes के अंदर Transaction Complete हो जाता है।
  • समय की बचत होती है।
  • Business Requirement के लिए Useful है।
  • ज्‍यादा रकम Transfer करने पर Fees कम लगती है।
  • Bank के पास Transfer Fees घटाने का अधिकार होता है। इसलिए यदि Bank चाहे तो Transfer Fees कम कर सकता है।
  • Cheque System में जिसे पैसा Receive करना है उसे Bank Branch जाना होता है जबकि Online/Offline RTGS में Fund Receive करने वाले को Bank Branch में जाने की जरूरत नहीं होती है।

Difference Between RTGS And NEFT In Hindi

  • NEFT द्वारा Transfer किया गया पैसा दूसरे Account में कुछ घंटो बाद पहुँचता है। जबकि RTGS द्वारा Transfer किया गया पैसा तुरंत पहुँच जाता है।
  • NEFT में आप एक रुपये से लेकर ज्यादा से ज्यादा कितने भी रुपये Transfer कर सकते है RTGS में कम से कम 2लाख और अधिकतम आप जितने चाहे Transfer कर सकते है।
  • RTGS करने की Time Limit सुबह 8:00 बजे से लेकर शाम 4:30 बजे तक की होती है और NEFT में पैसा Transfer करने की Time Limit सुबह 8:00 बजे से लेकर शाम 7:00 बजे तक की होती है।

RTGS से Related कुछ अहम बातें

  • कई सारे Bank आपके द्वारा किए जाने वाले RTGS के Amount और Transaction की Limit तय कर देते हैं और आप एक दिन में तय Limit से ज्‍यादा Transaction नहीं कर सकते हैं, तो इसका आप पता लगा ले कि आपका Bank Branch आपको Per Day कितना Transaction करने के लिए Allow करता है।
  • आपको Per Transaction Cost के बारे में भी Bank Branch से पूछ लेना चाहिए, क्‍योंकि हर Bank अपने हिसाब से Transaction Cost Charge करता है।

Must Read- India me BitCoin kaise kharide

Must Read- Ok Google kya hai?

Sharing is Caring:

4 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *