Professional TAX Registration व TAN registration क्या है|

प्रोफेशनल टैक्स रजिस्ट्रेशन क्या है (What is Professional Tax Registration)

इस article में हम बात करेंगे Professional TAX RegistrationTAN रजिस्ट्रेशन की जो बहुत ही महत्वपूर्ण है। आपके बिज़नेस के लिए अगर आप कोई बिज़नेस कर रहे है जिसमे लोग आपके लिए सैलरी की लिए काम करते है तो उसमे आपको सैलरी TDS  काट कर देनी होती है और उसे बाद में आयकर विभाग में जमा करवाना होगा। जिसके लिए Professional TAX Registration जरुरी है वही प्रोफेशनल टैक्स इस से थोड़ा मिलता जुलता है पर Professional TAX Registration राज्य सरकार द्वारा लिया जाता है। इस आर्टिकल में TAN रजिस्ट्रेशन व प्रोफेशनल टैक्स की बात की गयी है जिससे आप इनको आसानी से समझ पाएंगे।

Professional Tax registration

Must Read- Online PAN Card ke liye apply kaise kare…

TAN registration क्या है

TAN Registration  (कर कटौती और संग्रह खाता संख्या) करवाना अनिवार्य है उन बिज़नेस के लिए जिनकी जिम्मेदारी बनती है की वो TDS Return जमा करने की। TAN (कर कटौती और संग्रह खाता संख्या) एक अद्वितीय 10 अंकों की अल्फा संख्या है जो भारत के आयकर विभाग द्वारा जारी की जाती है।

अगर आपको भी अपना TAN नंबर चाहिए तो उसके लिए आपको TAN Registration करवाना होगा। यदि आप एक बिज़नेस कर रहे है और आप स्त्रोत पर टैक्स जमा करने के लिए जिम्मेदार है तो आपको अपने वर्कर्स की सैलरी में से TDS काटना होगा और उसे आयकर विभाग में जमा करवाना होगा और ये सब आप तभी कर पाएंगे जब आपके पास TAN नंबर होगा। TAN  रजिस्ट्रेशन , टीडीएस भुगतानों के प्रेषण और टीडीएस प्रमाणपत्र जारी करने के लिए आवश्यक है।

TAN रजिस्ट्रेशन करवाने की प्रक्रिया बड़ी सरल व् आसान है। आप अपना फॉर्म ऑनलाइन या फिर ऑफलाइन भरकर जमा करवा सकते है। ऑनलाइन फॉर्म भरने के लिए आपको इस लिंक पर जाना होगा । इस लिंक पर जाकर आपको फॉर्म 49B को भरना होगा। आपको इस फॉर्म को भरने के बाद इसका प्रिंट निकलना है फिर उसे NSDL के ऑफिस में भेजना है । आपका फॉर्म जमा होने पर आपको TAN नंबर मिल जायेगा ।

 Must Read- IRCTC se online ticket book kaise kare..

प्रोफेशनल टैक्स क्या है

प्रोफेशनल टैक्स अप्रत्यक्ष कर है, जो राज्य सरकार द्वारा वसूला जाता है उन लोगो से जो सरकारी या गैर सरकारी सेवाओं में कार्यरत व्यक्ति, चार्टेड अकउंटेंट,वकील, डॉक्टर, व अन्य बिज़नेस कार्य में लगे हुए व्यापारियों पर लगाया जाता है । भारतीय संविधान में लिखा गया है की राज्य सरकार रेवेन्यू प्राप्त करने के लिए लोगो से प्रोफेशनल टैक्स ले सकता है ताकि वो राज्य सरकार के काम के लिए उसे इस्तेमाल कर सके।

अगर आप किसी कारण से प्रोफेशनल टैक्स नहीं चुका पाते है तो आप पर ज़ुर्माना लगाया जा सकते है तो आप इसे निर्धारित समय पर ही जमा करवादे अन्यथा आपको ज़ुर्माना भुगतना पड़ सकता है तो इस बात का खास ध्यान रखे रखें । जो कर्मचारी सेवारत है, उनका प्रोफेशनल टेक्स नियोक्ता यानि की जिन लोगो के लिए काम कर रहे है उनके  द्वारा काटा जाता है और जिस जगह पर कम्पनी का कार्यालय हैं  उसी जगह के सरकार के स्थित कार्यालय में जमा करवाना पड़ता है।

प्रोफेशनल टेक्स को इन्कम टेक्स की तरह ही माना जाता है। जितना प्रोफेशनल टेक्स काटा जाता है, उसके योग पर आयकर की छूट मिलती है। अधिकतम कर सिर्फ २५०० रूपये है उससे ज्यादा आपको नहीं चुकाना पड़ेगा । अगर आपको प्रोफेशनल टैक्स चुकाना है तो पहले आपको Professional Tax Registration करवाना होगा इसलिए आपको अपने राज्य के स्थित कार्यालय में करवाना होगा वैसे आजकल कई राज्य सरकारों ने यह सुविधा ऑनलाइन कर दी है ।

 

ये राज्य ले रहे है प्रोफेशनल टैक्स

हमारे देश में कुछ राज्य है जो अभी भी प्रोफेशनल टैक्स वसूल नहीं करते है पर कई राज्य ऐसे भी है जो प्रोफेशनल टैक्स वसूल कर रही है। भारत में प्रोफेशनल टैक्स वसूल करने वाले राज्य ये है- आंध्रा प्रदेश, असम, छतीसगढ़, गुजरात, महाराष्ट्र, मेघालय, मघ्यप्रदेश, उड़िसा, कर्नाटका, केरला, तमिलनाडू, त्रिपुरा ,पश्चिमी बंगाल। हरयाणा, उत्तरप्रदेश, दिल्ली भी Professional TAX Registration वसूल करते है।

निष्कर्ष (conclusion)

जैसे की आप ऊपर लिखे गए आर्टिकल में देख सकते है Professional TAX Registration & TAN रजिस्ट्रेशन करवाना कितना आवशयक है क्यूंकि इसके बिना आप टीडीएस नहीं काट पाएंगे जैसा की आपने ऊपर देखा की आयकर विभाग एक TAN नंबर जारी करता है।

रजिस्ट्रेशन के बाद जिसे आपको टीडीएस काटते  समय सैलरी स्लिप में लिखना होता है और इसके बिना आप टीडीएस जमा नहीं करवा पाएंगे तो इसे जरूर रजिस्टर करवाए इसे आप ऑनलाइन भी जमा करवा सकते है ।जिसके लिए आपको ऊपर दिए गए लिंक पर क्लिक करना होगा और वह जाकर अपना फॉर्म भरकर जमा करवाना होगा और जैसे की आप ऊपर देख सकते है की प्रोफेशनल टैक्स रजिस्ट्रेशन भी कितना जरुरी है। उन राज्यों में जहा ये अनिवार्य है तो आप इसका रजिस्ट्रेशन जरूर करवाए क्योंकि अगर आप एक नियोक्ता है तो आपको प्रोफेशन टेक्स देना होगा तो ऊपर लिखी बातो का ध्यान रखते हुए इनको रजिस्टर जरूर करवाए।

अगर आपको हमारी ये पोस्ट पसंद आयी तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे ताकि वो लोग भी Professional TAX Registration के बारे में जान सके। आप हमें Social Media पर भी Follow कर सकते हैं। अगर आपके मन में इस पोस्ट को लेकर कोई सवाल है तो आप कमेंट कर सकते है।

Sharing is Caring:

3 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *