GDPR (General Data Protection Regulation) kya hai? iske kya fayde hai

GDPR (General Data Protection Regulation) हर एक Internet User के लिए बहुत Important policy है और हम आज विस्तार से जानेंगे की GDPR Kya Hai?  GDPR Ke Baare Me Hindi Me Jankari और इसके Policies, Fine/Penalty किसके लिए है और क्यों है?

GDPR (General Data Protection Regulation) kya hai

अभी कुछ समय पहले Facebook – Cambridge Analytical Scandal के बारे में हम सभी ने सुना, इसमें करोडो Users के Personal information Leak हुए, यहाँ तक माना जाता है की पिछले साल US Election में इन सभी Information का Use किया गया था.

ऐसे में सभी देशो की सरकार और वहाँ की जनता को Data Protection को लेकर बहुत चिंता में होने लगी है  कि अगर आगे भी ऐसा रहा तो किसी भी देश का Future खतरे में पड़ सकता है और अरबो रुपये का नुकसान हो सकता है. इसलिए General Data Protection Regulation यानि GDPR को फिर से Update किया गया और इसके term, Policy को पहले से काफी बेहतर बनाया गया है.

चलिए इस Official Video से जान लेते है की GDPR General Data Protection Regulation क्या है?

Definition of GDPR (General Data Protection Regulation) :-

GDPR General data protection regulation एक कानूनी प्रक्रिया है जो यूरोपीय यूनियन (ईयू) के भीतर यूजर की व्यक्तिगत जानकारी के संग्रहण और प्रसंस्करण के लिए दिशानिर्देश निर्धारित करता है.

GDPR kya hai?

General Data Protection Regulation जिसे हम Generally “GDPR” के नाम से जानते है. इसे European Union द्वारा Data Protection के लिए 2016 में बनाया गया था. लेकिन इसका Implementation इस साल 2018 में किया गया है.

GDPR Law, European Union में UK, Germany, France, Italy, Belgium, Norway, Poland, Spain, Sweden, Greece, Austria सहित  और जितने भी European Union members है उनके हर एक Citizen के लिए मान्य  है.

इस Law को बनाने का Main aim है, Users के पास उनके personal data का control देना है और इसे और आसान बनाना ताकि User के data के साथ फिर कोई Problem ना हो सके और आगे Data Leak जैसे समस्या से बचा जा सके.

यह Law अभी केवल European Union में implement किया गया है और हो सकता है जल्दी हमारे देश में भी GDPR Law को implement कर दिया जाये. अभी यह 25 May 2018 ही Implement किया गया है और दुनिया की सभी बड़ी Companies जैसे की Facebook, Goolge, Linkedin, Twitter ने अपने Users को इसके बारे में Information provide कर दिया है की हम GDPR Law को Follow करते है

डेटा प्रोटेक्शन एक्ट के तहत उपभोगताओं के अधिकार  :-

  • Right to be forgotten
    इसमें होगा ये की जब भी किसी भी वेबसाइट पर आप अपना डाटा रखेंगे तो एक user के हिसाब से कभी भी आप अपना सारा डाटा erase means डिलीट करवा सकते है कंपनी के server पर से , आपको अगर लगता है की नहीं आपका जो personal data है वो कंपनी के server पर नही होनी चैये या इसके कही भी storage डिवाइस में न रहे तो जब आपको लगे आप कंपनी को बोल कर की आपके पास मेरा जो डाटा है उसको डिलीट कर दीजिये तो कंपनी को करना होगा | जैसे अगर आपका डाटा Facebook के  server पर है चाहे वो पिक्चर हो या कोई भी details सब डिलीट करवा सकते है |
  • Right to rectification
    आपको GDPR के अंदर ये power मिलेगा की अगर आपको लगता है कंपनी के पास जो डाटा है वो गलत है तो कभी भी उसको correct करवा सकते है |
  • Right of portability
    इसमें आपको अपने डाटा का portability का power मिलता है जिसमे आप अपने डाटा को कभी भी एक जगह से दुसरे जगह port कर सकते है |
  • Right of access
    अगर आपका डाटा कही भी किसी कंपनी के पास है तो आपको ये power मिल जाता है की आप कंपनी से वो सब details मांग सकते है की आपने मेरा कौन कौन सा डाटा अपने server पर store करके रखा है और इस law के तहत आपके पास आपके डाटा का access power पूरा है |
  • Right to object
    आपने अगर किसी कंपनी को अपना personal डाटा दिया है जैसे की Facebook के case में होता है तो आप कभी भी कंपनी को मना कर सकते है की आपके डाटा को दुसरे काम के लिए इस्तेमाल नही कर सकते है , लेकिन रुकिए , कंपनी अगर ये proof कर देगा की आपने उसके term and condition को accept किया है इस्तेमाल करने के लिए तो वो कर सकता है |

GDPR (General Data Protection Regulation) के उल्लंघन की पेनेल्टी क्या है :-

अगर कोई बिज़नेस या ऑनलाइन कंपनी इस उलंघन में शामिल पायी गयी तो उसे Yearly Turnover का 4% ya 20 मिलियन यूरो का जुर्माना लगाया जायेगा जो ज्यादा होगा.

किन कम्पनिओं पर पड़ेगा प्रभाव :-

GDPR का प्रभाव हर एक छोटी बड़ी कंपनी पर पड़ेगा जबसे ज्यादा उन companies पर जो यूजर का डाटा अपने पास होल्ड रखते है जैसे की Facebook , WordPress all social sites ,analytics sites , technology firms, marketers, and the data ब्रोकर्सर and  जो indirect इनसे जुड़े हुए है .

इस आर्टिकल में को बहुत सिंपल लैंग्वेज में समझाया गया है और अगर आप एक आर्डिनरी वेबसाइट चलाते हो तो आपको ज्यादा परेशान होने की जरुरत नहीं ,इंडियन ब्लोग्गेर्स को भी कोई ख़ास फर्क नहीं पड़ेगा ,हाँ जो बड़ी कम्पनियाँ है जिनका जिकर ऊपर किया गया है उनको अपने स्टाफ को ट्रेंड करना होगा.

इससे किसको होगा फायदा?

अब कोई भी कंपनी आपके डाटा को किसी गलत काम के लिए नही sell कर सकता है.

आपको जो आपके ईमेल में बहुत सारे spam email आता था वो दिक्कत अब आपको नही होगी क्योकि सबसे ज्यादा लोगो का email ID बेचा जाता था |

जब भी कोई भी वेबसाइट आपका ईमेल id मांगेगा या कोई भी डाटा जो आपका private या personal डाटा है तो उसको ये बताना होगा की आपके डाटा को वो collect क्यों कर रहा है और उसका इस्तेमाल किस तरह करेगा जैसे की google आपके location को भी trace करता है तो वो बताएगा की कैसे आपके location वाली सुचना को सुरक्षित रखेगा या ईमेल id है तो उसको क्योकि अपने पास collect करेगा |

Personal Data Kya hai?

जब भी Internet पर किसी Website/application पर अपना Account Create करते है. तो हम वहा पर Name, Address, Interest के साथ-साथ जरुरत पढ़ने पर Bank/Income, Health, Insurance, Culture जैसे और भी बहुत से Information के बारे में जानकारी Provide करते है. GDPR Law के हिसाब से ये सभी Personal Data के अंतर्गत आते है.

GDPR (General Data Protection Regulation) से होने वाले फायदे-

  • Cyber Security Increase- इससे आपकी Cyber Security Increase होगी और आप अपनी Personal जानकारी जहा जहा देंगे वह से जानकारी लीक होने की संभावना ख़तम हो जाएगी और आपकी जानकारी सुरछित रहेगी।
  • ROI Investment Increase- GDPR के according Business को एक Opt-in Policy लागू करनी होगी जिसमे Citizen को अपनी Personal Data को Processed Agreement देना होगा।
  • Establishing a new Business Culture- GDPR का पालन करके आप अपने ग्राहक के डाटा को Value देंगे और और ग्राहक आपके प्रति Responsibility को Follow करेंगे।
  • Data Management- GDPR को Compliance करने के लिए आपके पास Available All Data Audit करना होगा। ये आपके Stored Data को कम करने और Stored Data को Better बनाने में आपकी मदद करेगा।
  • Audience Loyalty and Trust will be Promoted- GDPR आपको अपने Customers के साथ विस्वास बढ़ाने में आपकी मदद करेगा, इसमें आप अपने Privacy Page में बता सकते है की आप अपने ग्राहक के द्वारा बताई गयी जानकारी को कहा और कैसे Share करते है।

Conclusion-

दोस्तों, GDPR(General Data Protection Regulation) आ जाने Users और Companies दोनों का फायदा होगा. User को अपने Personal Data पर Full Control मिल जायेगा और Companies जो इससे पहले बहुत से Data protection law और Cyber Law के साथ काम करते थे उन्हें बस अब एक Law GDPR के साथ काम करना होगा. अभी तक जब कोई Company अपना Policy बनती थी तो बहुत से Law होने के कारण वह इतना बड़ा हो जाता था की users उसे पढ़ते नहीं थे लेकिन अब हमें एक छोटा और बढ़िया data protection Policy देखने को मिलगा. जो हमारे लिए Best Data Protection Low हो सकता है.

उम्मीद है की GDPR(General Data Protection Regulation) आप के बारे में काफी हद तक समझ गए होंगे। अगर मुझसे GDPR के बारे में कुछ जानकारी छूट गयी है तो आप हमें Comment करके बता सकते है हमें बहुत ख़ुशी होगी, अगर आपको हमारी ये जानकारी अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ Share करे, आप हमें Social Media पर भी Follow कर सकते है।

Sharing is Caring:

6 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *